How to cultivate sugarcane

गन्ने की खेती कैसे करे ? How to cultivate sugarcane?

How to cultivate sugarcane?

गन्ने की खेती में भारत का दूसरा स्थान है और जगहे की बात की जाये तो ये पहले स्थान पे आता है, अर्थात भारत में सबसे अधिक भूमि पे उपजाया जाता है। गन्ने की खेती इसलिए की जाती है क्यूंकि गन्ने से चीनी बनाया जाता है और चीनी का उपयोग पुरे देश भर में हर एक व्यक्ति के द्वारा किया जाता है। गन्ने की खेती पुराने ज़माने से जिस तरह से हो रहे थे उसी तरह से की जा रही है, जिसकी वजह से उपज में कुछ ख़ास वृद्धि नहीं हुवी है। और आज के ज़माने में होने वाले किट-पतग फसलों को और भी बर्बाद कर रहे है, जिसकी वजह से उपज में वृद्धि नहीं हो पा रही है। गन्ने की खेती करना बहुत ही सरल और आसान है। इसलिए हम आपको बताने जा रहे है की किस प्रकार से गन्ने की खेती की जाती है और आप अपने जमींन पे किस प्रकार से गन्ने की खेती कर सकते है। तो चलिए जानते है की किस प्रकार से गन्ने की खेती को किया जाता है।

हम इसे मुख्य रूप से तीन भागो में बाट कर के जानेंगे।

  1. रोपने से पहले
  2. रोपने के दिन
  3. रोपने के बाद
How to cultivate sugarcane
How to cultivate sugarcane

रोपने से पहले :-

  • जमींन की जुताई
  • मिट्टी में खाद और उर्वरक को मिलाना
  • मिट्टी में गोबर को मिलाना
  • फिर एक बार अच्छे से जुताई

रोपने के दिन :-

  • सबसे पहले बीजो को लाये
  • बीजो को अच्छे से धोये
  • फिर जमींन में गाढ़ा कर के उन्हें जमींन में दफन करे
  • इतना करने के बाद
  • उनमे 10cm तक पानी डाले

रोपने के बाद :-

  • रोपने के तीन दिनों बाद उसमे खरपतवार को मिला कर के उन्हें कीटो से बचने के लिए उनपे हल्का-हल्का छिड़काव करे
  • रोपने के पांच दिन बाद उसकी ऊंचाई बढ़ा दे
  • रोपने के तीस दिनों बाद उसमे पाउडर मिला के छिड़के और उसमे पानी डाले
  • इस असल को त्यार होने में करीबन 120-150 दिनों का समय लगेगा
  • फिर इसकी देख भल करने के बाद इसमें 45 दिनों बाद इसमें फिर से खाद डाले और कीटो से सुरक्षित करे
  • फिर रोपने के 80 दिन बाद इसमें फिर से पाउडर का छिड़काव करे
  • इसी तरह से पुरे पर्किर्या होने के बाद
  • इसको परतेक 15 दिनों में सिचाई करे
  • और इसे काटने से पहले 15 दिन तक पानी न दे

कटाई का समय :-

काटने से 15 दिन पहले कोई भी पानी ना डाले क्यूंकि पानी डालने से जमींन गिला हो जाएगा और कटाई करने में दिक्कत होगी।

फिर जब जमींन सुख जाये इसकी कटाई कर सकते है।

बाजार में बिकाऊ :-

  • जब फसल कट जाये तो इसे बाजार में बेच दे।
  • इसके लिए इसे डलाव वाले ट्रेक्टर में लोड कर ले।
  • और उसे बाजार में किसी बिक्रेता को बेच दे।
  • बेचने से पहले उसे अच्छी तरह से वजन कर ले।
  • फिर वजन करने के बाद उसे बाजार में मिलने  से गुना कर ले।
  • फिर उसके हिसाब से पैसे ले ले।

निष्कर्ष :- तो आपने इस लेख से जाना की गन्ने की खेती कैसे की जाती है और आप कैसे गन्ने की खेती कर सकते है। तो ऐसे की और भी पोस्ट देखने के लिए और पढ़ने के लिए निचे दिए गए हमारी लिंक पे क्लिक करे और डायरेक्ट पोस्ट पे पहुंच जाये। यहाँ लिखे गए सारे शब्द केवल और केवल जानकारिओं के उद्वेश से लिखे गए है , ताकि आप तक जानकारिओं को पहुंचाया जा सके और आप इसके बारे में जान सके। आशा है की आपको ये पूरा आर्टिकल अच्छे से समझ में आ गया होगा और कोई दिक्कत नहीं होगी। यदि आपको किसी प्रकार की कोई दिक्कत है तो आप हमें कमेंट कर के जरूर बताये।

धन्यवाद !!!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *