up agriculture

Improving Agriculture in Uttar Pradesh – UP Agriculture

Uttar Pardesh (उत्तर प्रदेश) :-

भारत देश के 29 राज्यों में से एक उत्तर-प्रदेश भी है। जो की भारत के पूर्वी हिस्से में आता है और यह राज्य 243,286 km² में फैला हुवा है। इस राज्य में करीबन 20 करोड़ से भी अधिक जनसंख्या में लोग रहते है। यह राज्य बहुत ही प्रसिद्ध है क्यूंकि सबसे बड़ी और लम्बी नदी इसी राज्य में बहती है जिसे हम The Ganga के नाम से जानते है। साथ ही इस राज्य में गंगा और यमुना नदी का संगम भी है जो की इस राज्य को और भी जाएदा प्रसिद्ध कर देती है। यह राज्ये एक तीर्थयात्रा केंद्र भी है, जहाँ दूर दूर से लोग तीर्थयात्रा पे आते है और यात्रा करते है।

UP Agriculture

Agriculture जिसका हिंदी में मतलब कृषि होता है, कृषि का अर्थ खेती करने से है अर्थात पौधों और पशुओ की खेती करना ही कृषि कहलाती है। कृषि का इतिहास हजारों साल पहले शुरू हुआ था। कम से कम 1,00,000 साल पहले शुरू होने वाले जंगली अनाज इकट्ठा करने के बाद, जंगली किसानों ने लगभग 11,500 साल पहले उन्हें जमीं में रोपना शुरू किया। 10,000 साल पहले सूअर, भेड़ और मवेशियों को पालतू बनाया गया । हालांकि लगभग 2 Billion लोग अभी भी निर्वाह कृषि पर इक्कीसवीं सदी में निर्भर है। ठीक उसी प्रकार Agriculture UP भी उत्तर प्रदेश में शुरू हुवा था और आज भी चल रहा है।

up agriculture

उत्तर प्रदेश के मुख्य अर्थ-वेवस्था का आधार कृषि है। 2015 की जनगणना के हिसाब से उत्तर प्रदेश के 69% जमींन पे केवल खेती की जाती है। कृषि की आधुनिक तकनीको का उपयोग कर उत्पादन तथा उत्पादकता की गती मर तेजी लाना ही उत्तर प्रदेश को खाद्य सुरक्षा से आत्मनिर्भर बनाते हुये आवश्यकता से अधिक की ओर पहुँचाया है। उत्तर प्रदेश में अधिकांश लोग कृषि पे निर्धारित रहते है वे खेती करते है और उन्हें उपजा कर के बेचते है जिससे वे अपने घर और परिवार को चला पाते है। यहाँ की अधिकांश लगभग 65% लोग कृषि पे आधारित है। यदि यहाँ किसी साल कृषि नहीं होगी तो ये राज्य बर्बाद हो जाएगा और इसे अन्य राज्यों से अनाज मंगवाना पड़ेगा। और इस राज्य की अर्थ व्यवस्था भी खराब हो जाएगी। वर्ष 2015–16 में सरकार द्वारा 32 लाख किसान क्रेडिट कार्ड वितरण का लक्ष्य बनाया गया लेकिन

 34  लाख से भी अधिक किसान क्रेडिट कार्ड का वितरित किया गया था । वर्ष 2016–17 में फिर से सरकार द्वारा 32 लाख किसान क्रेडिट कार्ड वितरण का लक्ष्य बनाया गया लेकिन 34 लाख के करीब किसान क्रेडिट कार्ड का वितरित किया गया था ।

UP Agriculture Department:-

UP Agriculture Department में मुख्य रूप से 5 लोग जाएदा महत्व पूर्ण होते है और जैसे :-

योगी आदित्यनाथ :- उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री

श्री सूर्य प्रताप साही :- कृषि मंत्री

श्री लखन सिंह राजपूत :- राज्य कृषि मंत्री

डॉ. देवेश चतुर्वेदी :- कृषि प्रधानचार्य

डॉ. अजित प्रकाश :- कृषि निर्देशक

UP Agriculture Registration Page:-

UP Agriculture registration page से आप अपना फॉर्म ऑनलाइन घर बैठे भर सकते है और Registration करवा सकते है। जिससे आपका समय बचेगा और काम आसानी से जल्दी भी हो जाएगा। आप यहाँ से अपना Registration मुफ्त में और बहुत ही आसानी से करवा सकते है वो भी बिना किसी झंझट के वो भी तुरंत कुछ ही पालो में।

Agriculture Minister Of UP:-

Agriculture Minister Of UP जिनका नाम श्री सूर्य प्रताप साही है, जिनका जन्म 23 दिसम्बर 1952 में हुवा था। ये भारतीय जनता पार्टी के नेता भी रह चुके है। इन्होने LLB की पढ़ाई भी की हुवी है। इनके पिता जी का नाम राजेन्द्र किशोर साही था जो की RSS पार्टी के नेता थे। ये कई बार उत्तर प्रदेश के संसद भी रह चुके है। इनका जन्म उत्तर प्रदेश के एक छोटे से जिले देओरिए के एक गांव पकारगढ़ में हुवा था जो धीरे-धीरे आज पुरे उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री है।

5 Replies to “Improving Agriculture in Uttar Pradesh – UP Agriculture”

  1. Nicely wrktten & done my friend!
    I began writing myself very recently and have seen many articles merely
    rehash old content but add very little of benefit. It’s fantastic to see
    an informative write-up oof some rewl value tto myself and your oher followers.

    It is actuallly on my list of creteria I need to replicate being a new blogger.

    Reader engagement aand material value are king.
    Many awesome suggestions; you have definitely got on my list of blogs to follow!

    Keep up the ffantastic work!
    Well done,
    Gussie

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *